वर्ष का पहला चंद्रग्रहण औऱ प्रभाव, ज्योतिर्विद कालज्ञ पं संजय शर्मा से जानिए


वर्ष 2020 का पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी 2020को रात्रि 10:37 मिनिट से 02:57 मिनिट तक रहेगा,यह चंद्र ग्रहण इस वर्ष का का पहला चंद्रग्रहण होगा। विश्व क़े पूर्वोत्तर देशो मे दृश्यमान होगा-भारत क़े अलावा सभी पूर्वोत्तर देशो मे यह ग्रहण दिखाई देगा, जापान, चीन, इन्डोनेशिया, थाईलैंडआस्ट्रेलिया मे यह ग्रहण दिखाई देगा, सऊदी अरब,कतर, दक्षिणी अफ्रीकी देश मे भी यह ग्रहण देखा जा सकता
हैं।  ग्रहण का सूतक काल-इस ग्रहण का सूतक काल ग्रहण से 12 घंटे पहले अर्थात 10:35 से प्रारंभ होगा, इस समय सभी मन्दिरों क़े द्वार बंद हो जाएंगे,सभी सनातन धर्म वालो को रात्रि का भोजन शाम ढलने क़े पहले ही कर लेना चाहिए, इसके बाद सभी खाद्य औऱ पेय पदार्थो मे तुलसी पत्र डालकर रख देना चाहिए,इस समयावधि क़े बाद किया गया भोज दुष्ट आत्माओं को जायगा।

ज्योर्तिविद कालज्ञ पं. संजय शर्मा 09893129882 , 09424828545 ज्योतिष लेखक, ज्योतिष एवं वास्तु परामर्ष , रत्न विशेषज्ञ , प्रेरक (मोटीवेटर) , कलर थेरेपिस्ट एवं औरा रीडर, 11, न्यू एम.आई.जी. मुखर्जी नगर, एम.आर. 8, टेलीफोन ऑफिस के समने, देवास म.प्र. 455001

ग्रहण काल मे करें भजन औऱ नाम स्मरण-ग्रहण काल ने भजन पूजन औऱ नाम स्मरण त्रीवता से करना चाहिए,ग्रहण काल से 15 दिन पहले औऱ 15दिन बाद तक नकारात्मक शक्तियां पूरे वायुमंडल मे सक्रिय होती हैं, इस समयावधि मे दुष्ट लोगो से बचना चाहिए, खतरनाक स्थान नदी पहाडो औऱ खंडहरो की यात्राओं से बचना चाहिए।
जिनकी पत्रिका मे ग्रहण हो-जिनकी पत्रिका मे सूर्य चंद्र राहु या केतु से ग्रसित हो, जिनकी जन्म राशि धनु या मिथुन हो, जिनका जन्म 15 दिसंबर से 15जनवरी क़े मध्य हुअा हो या जिनका जन्म 15 जून से 15जुलाई क़े मध्य हुअा हो, वे इस ग्रहण काल मे विशेष तौर पर सावधानी बरते।
ग्रहण काल मे करें ये उपाय-ग्रहण काल मे भगवान गणेश औऱ भगवान भैरवनाथ कालभैरव का विशेष रूप से स्मरण करें,इस समयावधि मे गणपति अथर्वशीर्ष औऱ कालभैरवअष्टक का पाठ करें, राहु केतु कवच औऱ रक्षा स्त्रोत का पाठ करें।
कालज्ञ पं संजय शर्मा 09893129882, 09424828545 (paytm, phonepe)

Loading...

Like it? Share with your friends!